ग्रंथों के अनुसार शादी में उम्र का अंतर होना जरूरी – सम्पूर्ण जानकरी

ग्रंथों के अनुसार शादी में उम्र का अंतर होना जरूरीसम्पूर्ण जानकरी – शादी करना हमारे जीवन का सबसे खुबसुरत पल होता हैं. लेकिन शादी तय करने से पहले हमें काफी कुछ देखना चाहिए. इसके बाद ही शादी करनी चाहिए. जैसे की हम जिससे रिश्ता बनाने जा रहा है उनका परिवार कैसा हैं. हम जिससे शादी करने वाले उनका एजुकेशन कितना हैं.

Grantho-ke-anusar-shadi-me-umr-ka-antr-hona-jruri (3)

और सबसे मुख्य बात यह की हम जिससे शादी कर रहे है. उसकी उम्र और हमारी उम्र के बीच कितना अंतर हैं. अगर उम्र का अंतर नहीं देखा जाता. और ऐसे ही आंख बंध करके शादी कर ली जाती हैं. तो आगे जाकर वैवाहिक जीवन खराब होने की संभावना बनी रहती हैं.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की ग्रंथों के अनुसार शादी में उम्र का अंतर होना जरूरी है. तो आइये हम आपको इस टॉपिक से संबंधित विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करते हैं.

ग्रंथों के अनुसार शादी में उम्र का अंतर होना जरूरी

हमारे ग्रंथो के अनुसार शादी में कितना अंतर होना चाहिए. तथा शादी करने से पहले किन-किन बातों का ध्यान रखना होता हैं. जिससे कपल्स का वैवाहिक जीवन अंत तक चले. अगर आप भी अपना वैवाहिक जीवन सुखमय चाहते हैं. तो नीचे दी गई बातों का ध्यान रखे.

ग्रंथो के अनुसार पतिपत्नी के बीच उम्र को लेकर कितना अंतर होना चाहिए

अभी के कुछ रिसर्च के अनुसार देखा गया है. की अगर पति-पत्नी के बीच 10 साल का अंतर हैं. तो ऐसा वैवाहिक जीवन ज्यादा लंबा नहीं टिक पाता हैं. अगर पति-पत्नी के बीच 10 साल का अंतर है. तो ऐसी शादि 40 फीसदी तक टूटने की संभावना रहती हैं.

शादी के बाद मांगलिक दोष उपचार /  मांगलिक लड़के की शादी के उपाय

अगर पति-पत्नी में 20 साल का अंतर है. तो ऐसी शादी 95 फीसदी टूटने की संभावना हैं. इसलिए हमारे कुछ ग्रंथो के अनुसार बताया गया है. शादी में पति-पत्नी के बीच 1 या 2 साल का अंतर होना चाहिए. ऐसी जोडियाँ अंत तक साथ रहती हैं. और अंत तक एक दुसरे का साथ निभाती हैं. ऐसी शादी 3 फीसदी टूटने की संभावना है.

ग्रंथो के अनुसार कैसी शादी ज्यादा टूटने की संभावना रहती है

ग्रंथो के अनुसार हमारे यहा शादी करने के लिए लड़के की उम्र लड़की की उम्र से अधिक होनी चाहिए. वह भी अगर लड़के की उम्र 2 से 3 तीन साल अधिक है. तो ऐसा रिश्ता जीवनभर चलेगा. ऐसे रिश्ते टूटने की बहुत कम संभावना रहती हैं.

कुंडली में सप्तम भाव खाली हो तो क्या संकेत देता है | कुंडली में भाव कैसे देखे

लेकिन अगर लड़की की उम्र लड़के की उम्र से अधिक है. तो ऐसे रिश्ते सबसे अधिक टूटते है. अगर लड़की की उम्र में लड़के की उम्र से 1 या साल 2 साल का फासला है. तो ऐसा रिश्ता चल जाएगा. लेकिन लड़की की उम्र लड़के से काफी अधिक है. जैसे की 5 या 10 साल का अंतर है. तो ऐसी शादी सबसे ज्यादा टूटती हैं.

Grantho-ke-anusar-shadi-me-umr-ka-antr-hona-jruri (2)

ग्रंथो के अनुसार शादी में उम्र का अंतर क्या समस्या पैदा कर सकती है

अगर आपने शादी के लिए उम्र का अंतर अधिक रखा है. तो काफी सारी समस्या का सामना करना पड सकता हैं. जैसे की अगर पति की उम्र पत्नी से अधिक है. तो पति जल्दी फैमिली प्लानिंग की बात करेगा. जबकि पत्नी की उम्र अधिक कम होने के कारण वह अपनी शादीशुदा लाइफ को एन्जॉय करना चाहती है.

लग्न अनुसार जीवनसाथी कैसे चुने – पूरी 12 राशियों की जानकारी

अगर कपल्स में उम्र का अधिक फासला है. तो ऐसे कपल्स में कामेच्छा की कमी होगी. अगर पत्नी बड़ी होगी. तो उसमे कामेच्छा की कमी दिखाई देगी. और अगर पति बड़ा होगा. तो उसमे कामेच्छा की कमी दिखाई देगी.

ऐसे में दोनों ही अपनी सेक्स लाइफ एन्जॉय नही कर पाएगे. इसलिए हमेशा शादी के लिए उम्र का अंतर 1 या 2 साल ही रखे. तथा उम्र में अधिक अंतर होने के कारण दोनों के विचार नहीं मिलते हैं. ऐसे में पति-पत्नी के बीच अधिक झगड़े होने की संभावना रहती हैं.

Grantho-ke-anusar-shadi-me-umr-ka-antr-hona-jruri (1)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया की ग्रंथों के अनुसार शादी में उम्र का अंतर होना जरूरी है. हम उम्मीद करते है की आपके लिए हमारा यह आर्टिकल उपयोगी साबित हुआ होगा.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह ग्रंथों के अनुसार शादी में उम्र का अंतर होना जरूरी आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

12 राशियों के अक्षर जाने / नाम के अनुसार राशि जाने – सम्पूर्ण जानकारी

मिथुन राशि वालों को कौन सा व्रत करना चाहिए – सम्पूर्ण जानकरी

तुला राशि की परेशानी और उसका समाधान तुला राशि को समस्या कब तक ख़त्म होगी

Leave a Comment