हवन शुरू करने का मंत्र / हवन करने की विधि इन हिंदी

हवन शुरू करने का मंत्र / हवन करने की विधि इन हिंदी – हिंदू सनातन धर्म में कोई भी अनुष्ठान और धार्मिक कार्य करने से पहले हवन किया जाता हैं. सबसे बड़ी कथा माने जानी वाली सत्यनारायण की कथा में भी कथा का प्रारंभ करने से पहले हवन किया जाता हैं. लेकिन आपने कई बार देखा होगा हवन शुरू करने से पहले कुछ मंत्र उच्चारण किए जाते हैं.

Hawan-shuru-karne-ka-mantr-vidhi-in-hindi (1)

इसके बाद स्वाहा बोलकर हवन में आहुति डाली जाती हैं. कुछ इस प्रकार से हवन की शुरुआत की जाती हैं. लेकिन आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से हवन शुरू करने का मंत्र बताने वाले हैं. जो आपके लिए काफी जगह उपयोगी साबित हो सकता हैं.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल माध्यम से हवन शुरू करने का मंत्र तथा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं. तो यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

हवन शुरू करने का मंत्र

हवन शुरू करने का संपूर्ण मंत्र हमने नीचे बताया है.

ओम गणेशाय नम: स्वाहा

ओम गौरियाय नम: स्वाहा

ओम नवग्रहाय नम: स्वाहा

ओम दुर्गाय नम: स्वाहा

ओम महाकालिकाय नम: स्वाहा

ओम हनुमते नम: स्वाहा

ओम भैरवाय नम: स्वाहा

ओम कुल देवताय नम: स्वाहा

ओम स्थान देवताय नम: स्वाहा

ओम ब्रह्माय नम: स्वाहा

ओम विष्णुवे नम: स्वाहा

ओम शिवाय नम: स्वाहा

ओम जयंती मंगलाकाली, भद्रकाली कपालिनी दुर्गा क्षमा शिवाधात्री स्वाहा स्वधा नमस्तुति स्वाहा।

ओम ब्रह्मा मुरारी त्रिपुरांतकारी भानु: शशि भूमि सुतो बुधश्च: गुरुश्च शुक्र शनि राहु केतव सर्वे ग्रहा शांति करा भवंतु स्वाहा

ओम गुरुर्ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु, गुरुर्देवा महेश्वर: गुरु साक्षात् परब्रह्मा तस्मै श्री गुरुवे नम: स्वाहा।

ओम शरणागत दीनार्त परित्राण परायणे, सर्व स्थार्ति हरे देवि नारायणी नमस्तुते।

हवन शुरू करने से पहले सभी देवी-देवताओं को आहुति दी जाती हैं. इसलिए इस मंत्र में सभी देवी-देवताओं नाम दिए गए हैं. इसके पश्चात हवन की शुरुआत की जाती हैं.

Hawan-shuru-karne-ka-mantr-vidhi-in-hindi (2)

गड़ा धन निकालने का शाबर मंत्र – 2 सबसे प्रभावशाली मंत्र

हवन करने की विधि इन हिंदी

हवन करने की संपूर्ण विधि हमने नीचे बताई हैं.

  • हवन में आपको स्वच्छता का ध्यान रखना होता हैं. इसलिए हवन करने से पहले स्नान आदि कर ले. और इसके पश्चात साफ़ वस्त्र धारण कर ले.
  • इसके बाद हवन कुंड में आम की लकड़ी तथा कपूर जलाकर अग्नि प्रकट करे.
  • इसके पश्चात ऊपर दिया गया हवन मंत्र जप करते हुए. सभी देवी-देवताओं को घी की मदद से आहुति दे.
  • देवी-देवताओं को आहुति देने के बाद नवग्रह मंत्र जाप करते हुए नवग्रह को आहुति दे.
  • आप घी, पुष्प, कमल गट्टा, गूगल, शहद, इलायची, सुपारी, पान आदि से आहुति दे सकते हैं.
  • इतना हो जाने के पश्चात गोला में कलावा बांधे. और ऊपर से सिंदूर लगा ले. इसके पश्चात घी से भरकर चढ़ा दे.

इस प्रकार से आपका हवन आसानी से मंत्र जाप सहित पूर्ण हो जाएगा.

कन्या के शीघ्र विवाह हेतु मंत्र – 2 सबसे प्रभावशाली मंत्र

हवन सामग्री लिस्ट इन हिंदी पीडीएफ

हवन सामग्री में लगने वाली सभी वस्तु के नाम हमने नीचे बताए हैं.

  • पान
  • सुपारी
  • लौंग
  • इलायची
  • जायफल
  • कमल गट्टा
  • सिंदूर
  • रोली
  • मौली
  • पीली सरसों
  • मैंनफल
  • शहद
  • मोटा उड़द
  • नारियल
  • गोला
  • गिलोय
  • आम की लकड़ी
  • सराई
  • आम के पत्ते
  • सरसों का तेल
  • कपूर
  • केले
  • लाल कपड़ा
  • चुन्नी
  • केसर
  • पंचरंग
  • भोजपत्र
  • सफ़ेद चंदन
  • काली मिर्च
  • मिश्री
  • कत्था
  • लाल चंदन
  • घी
  • जौ
  • अनारदाना
  • चावल
  • तिल
  • बुरा

हवन की लकड़ी के नाम

हवन की लकड़ी के लिए आप आक, आम, ढाक, गुलर, दुश, कुषा, पीपल आदि लकड़ी का प्रयोग कर सकते हैं.

कन्या के विवाह के लिए किस मंत्र का जाप करें – सम्पूर्ण जानकारी

क्या स्त्री हवन कर सकती है

जी हां, स्त्री हवनकर सकती हैं. लेकिन स्त्री कभी भी अकेले हवन नहीं कर सकती हैं. हवन के दौरान स्त्री को मुख्य यजमान के रूप में अपने पति को साथ में रखना होता हैं. कोई भी स्त्री हवन के लिए मुख्य यजमान नहीं बन सकती हैं. सनातन धर्म के पुराने शास्त्रों में इसकी मनाई हैं.

Hawan-shuru-karne-ka-mantr-vidhi-in-hindi (3)

मनमुटाव दूर करने का उपाय / रिश्तों में मिठास लाने के उपाय

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से हवन शुरू करने का मंत्र बताया है. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह हवन शुरू करने का मंत्र / हवन करने की विधि इन हिंदी आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

पूजा सफल होने के संकेत क्या होते है

किस महीने में जन्मे बच्चे भाग्यशाली होते हैं / जून महीने में जन्मे बच्चे कैसे होते हैं

पूजा करते समय सिर भारी होना क्या है कारण और क्या है संकेत

Leave a Comment