नर्मदेश्वर शिवलिंग की पहचान / नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा कैसे करें

नर्मदेश्वर शिवलिंग की पहचान / नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा कैसे करें – हिंदू सनातनधर्म में घर में शिवलिंग की स्थापना करने से और शिवलिंग की पूजा-अर्चना करने से मनुष्य की सभी मनोकामना पूर्ण होती हैं. घर में शिवलिंग की स्थापना करने से घर में सुख-शांति बनी रहती हैं. इसलिए सनातन धर्म में शिवलिंग की स्थापना करके पूजा करने का विशेष महत्व हैं.

Narmdeshwar-shivling-ki-pahchan-pooja-kaise-kre-sthapna (3)

वैसे तो शिवलिंग कई प्रकार के होते हैं. तथा भक्त अपनी इच्छा अनुसार घर में किसी भी प्रकार के शिवलिंग की स्थापना करते है. लेकिन आज हम नर्मदेश्वर शिवलिंग के बारे में बात करने वाले हैं.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की नर्मदेश्वर शिवलिंग की पहचान कैसे करते है तथा नर्मदेश्वर शिवलिंग कहा मिलता है. इसके अलावा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं. इसके लिए हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

नर्मदेश्वर शिवलिंग की पहचान

नर्मदेश्वर शिवलिंग संगेमरमर के पत्थर की तरह छेद रहित, साफ़ तथा चमकदार होते हैं. यह शिवलिंग ठोस भी होते हैं. तथा यह शिवलिंग वजन में अन्य शिवलिंग की तुलना में भारी होती हैं. अधिकतर यह शिवलिंग छोटे रूप में पाए जाते हैं.

नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा कैसे करें / नर्मदेश्वर शिवलिंग की स्थापना

नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा करने की संपूर्ण विधि हमने नीचे बताई हैं.

  • सबसे पहले तो आपको इस बात का ध्यान रखना है. की नर्मदेश्वर शिवलिंग की जब भी आप स्थापना करे. तो शिवलिंग का मुख उत्तर दिशा की तरफ होना चाहिए.
  • इसके पश्चात यह ध्यान रखे की आप जिस नर्मदेश्वर शिवलिंग की स्थापना करने जा रहे है. उसकी लम्बाई 6 इंच से अधिक न हो. अर्थात अपने अंगूठे के बराबर होना चाहिए.
  • अब पूजा करने के दौरान सुबह उठकर स्नान आदि कर लेना हैं. और साफ़ वस्त्र धारण करने हैं.
  • अब एक चौकी या थाल में नर्मदेश्वर शिवलिंग को स्थापित करना हैं.
  • अब जल तथा बेलपत्र अर्पित करे.
  • अब हाथ जोड़कर महामृत्युंजय मंत्र या “ओम नम: शिवाय मंत्र” का अपनी इच्छा अनुसार जाप करे.
  • नर्मदेश्वर शिवलिंग की अपने घर में स्थापना करने से सुख-शांति बनी रहती हैं. तथा सभी कष्टों से हमे मुक्ति मिलती हैं.

Narmdeshwar-shivling-ki-pahchan-pooja-kaise-kre-sthapna (2)

गुलाब कितने प्रकार के होते हैं | गुलाब में ज्यादा फूल कैसे लाएं

नर्मदेश्वर शिवलिंग के फायदे

नर्मदेश्वर शिवलिंग को अन्य शिवलिंग से ऊपर माना जाता हैं. इसके लिए नर्मदेश्वर शिवलिंग के फायदे भी अधिक हैं. हमने नर्मदेश्वर शिवलिंग के कुछ फायदे नीचे बताए हैं.

  • नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा करने से मनुष्य के भाग्य खुल जाते हैं.
  • कई बार काफी मेहनत करने के बाद भी हमे सफलता नहीं मिलता है. ऐसी स्थिति में नर्मदेश्वर शिवलिंग की स्थापना करने से और पूजा करने से हमारी किस्मत खुल जाती हैं. हमे हर एक क्षेत्र में सफलता मिलने लगती हैं.
  • नर्मदेश्वर शिवलिंग की स्थापना करने से हमारे सभी कष्टों का निवारण होता हैं.
  • नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा करने से घर में सुख-समृद्धि का वातावरण बना रहता हैं.

तुलसी के पास कौन सी पांच चीजें नहीं रखनी चाहिए | तुलसी का पौधा छत पर लगा सकते हैं 

नर्मदेश्वर शिवलिंग कितने प्रकार के होते हैं

शिवलिंग काफी प्रकार के होते हैं. जैसे की सोने और चांदी के शिवलिंग, पारद शिवलिंग, जनेउधारी शिवलिंग, स्वयंभू शिवलिंग इन्ही शिवलिंग में एक नर्मदेश्वर शिवलिंग भी है. नर्मदेश्वर शिवलिंग के अन्य कोई प्रकार नहीं हैं. लेकिन सभी शिवलिंग में नर्मदेश्वर शिवलिंग अधिक फलदायी माना जाता हैं.

विमला तुलसी की पहचान / विमला तुलसी का पौधा कैसा होता है

नर्मदेश्वर शिवलिंग की कीमत

अगर आप नर्मदेश्वर शिवलिंग खरीदना चाहते हैं. तो आपको नर्मदेश्वर शिवलिंग 500 से 700 रूपये के करीब मिल जाएगा. यह शिवलिंग आप किसी भी मंदिर के बाहर पुजापा वाले की दुकान से या फिर ऑनलाइन माध्यम से भी खरीद सकते हैं.

शाम को शिवलिंग पर जल चढ़ाना चाहिए या नहीं / शिवलिंग को घर में रखना चाहिए या नहीं

नर्मदेश्वर शिवलिंग के बारे में कुछ अन्य जानकारी

  • यह शिवलिंग अन्य शिवलिंग की तुलना में अधिक शुभ फलदायी माना जाता हैं.
  • यह शिवलिंग नर्मदा नदी से निकलते है. इस कारण इसे नर्मदेश्वर शिवलिंग के नाम से जाना जाता हैं.
  • नर्मदेश्वर शिवलिंग की घर में स्थापना करने से दुसरे शिवलिंग की तुलना में अधिक लाभ मिलता हैं.

Narmdeshwar-shivling-ki-pahchan-pooja-kaise-kre-sthapna (1)

शिवरात्रि का व्रत कब खोला जाता है / महाशिवरात्रि व्रत नियम

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया की नर्मदेश्वर शिवलिंग की पहचान कैसे करते है तथा नर्मदेश्वर शिवलिंग कहा मिलता है. इसके अलावा इस टॉपिक से संबंधित अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह नर्मदेश्वर शिवलिंग की पहचान / नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा कैसे करें आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

भगवान विष्णु का अंतिम अवतार कौन सा है कल्कि अवतार की पहचान

एकादशी व्रत में दूध पीना चाहिए या नहीं / एकादशी के दिन सिर धोना चाहिए या नहीं

अपराजिता का फूल किस भगवान को चढ़ता है / सफेद फूल की अपराजिता के फायदे

2 thoughts on “नर्मदेश्वर शिवलिंग की पहचान / नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा कैसे करें”

Leave a Comment