पुत्र प्राप्ति के लिए कौन सा व्रत करना चाहिए | तेजस्वी पुत्र प्राप्ति के उपाय

पुत्र प्राप्ति के लिए कौन सा व्रत करना चाहिए | तेजस्वी पुत्र प्राप्ति के उपाय – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से पुत्र प्राप्ति के लिए जो व्रत बताने जा रहे हैं. उसके समान दूसरा कोई पुत्र प्राप्ति के लिए व्रत नही हैं. जिन दंपति को संतान होने में बाधाएं आती है. या फिर जिन्हें पुत्र प्राप्ति की कामना हो उनके मन की इच्छा इस व्रत से पूरी होती हैं.

तो चलो हम बताते है की पुत्र प्राप्ति के लिए कौन सा व्रत करना चाहिए. और व्रत करने की विधि तथा पुत्र प्राप्ति के और भी टॉपिक हम इस आर्टिकल में कवर करेगे.

putra-prapti-ke-lie-kaunsa-vrat-krna-chahie-tejasvi (1)

पुत्र प्राप्ति के लिए कौन सा व्रत करना चाहिए

पुत्र प्राप्ति के लिए पुत्रदा एकादशी का व्रत करना चाहिए. पौष माह की शुक्ल पक्ष एकादशी को ही पुत्रदा एकादशी माना जाता हैं. इस व्रत में भगवान विष्णु पूजा-अर्चना एवं उपसना की जाती हैं. संतान प्राप्ति के लिए यह व्रत सर्वोतम माना जाता हैं.

मान्यता के अनुसार इस व्रत के प्रभाव से सुखी जीवन के बाद मोक्ष की प्राप्ति होती हैं. पुत्रदा एकादशी के व्रत से संतान के जीवन में आने वाली समस्याओं का भी निवारण हो जाता हैं.

गर्भधारण करने के अचूक टोटके | पुत्र प्राप्ति के टोटके इन हिंदी

पुत्रदा एकादशी व्रत कैसे करे

  • जो भक्त यह व्रत का आरंभ करना चाहते है उन्हें एकादशी के पहले अर्थात दशमी तिथि की रात्रि से ही नियम का पालन करना होता हैं. दशमी के दिन सूर्यास्त के बाद भोजन ग्रहण नहीं करना है. और सोने से पहले भगवान विष्णु का ध्यान करके सोना हैं.
  • अब एकादशी के दिन सुबह उठकर स्नान आदि करके शुद्ध वस्त्र पहनकर कर भगवान विष्णु का ध्यान करना हैं.
  • अब आपको इस व्रत का संकल्प लेना है. इस के लिए आपको भगवान विष्णु की फोटो के सामने दीपक जलाना है. और व्रत के लिए संकल्प लेना हैं.
  • अब लाल वस्त्र से एक कलश को बांधकर स्थापना करे तथा कलश की भी पूजा करे.
  • अब भगवान विष्णु की विधिवत तरीके से पूजा करे. उन्हें धुप दीप करे तथा आरती करके प्रसाद चढ़ाए और लोगो में वितरण करे.
  • भगवान विष्णु की प्रतिमा के आगे फल, फुल, नारियल, पान, सुपारी, बेर, आवला, लौंग आदि अर्पित करे.
  • एकादशी की रात्रि को भगवान का भजन कीर्तन करे.
  • पुरे दिन का कार्य पूर्ण होने के बाद कथा आदि सुनकर फलाहार करे.
  • दुसरे दिन ब्राह्मण को भोजन तथा दक्षिणा अवश्य देनी चाहिए. उसके पश्चात ही आप भोजन करे.

काला गोरा भैरव शाबर मंत्र | काल भैरव शाबर मंत्र इन हिंदी

इस तरीके से पुत्रदा एकादशी का व्रत करना चाहिए. इस व्रत के पूण्य से मनुष्य विद्वान, पुत्रवान, तपस्वी तथा लक्ष्मीवान होता हैं.

putra-prapti-ke-lie-kaunsa-vrat-krna-chahie-tejasvi (2)

तेजस्वी पुत्र प्राप्ति के उपाय

तेजस्वी पुत्र प्राप्ति के लिए आप नीचे दिया गया उपाय करे.

यह प्रयोग आपको गर्मी के मौसम में करना हैं. जिस स्त्री का गर्भधारण हो गया है. उन्हें गर्मी के मौसम में 100 मिलीलीटर दूध लेना है. और उसमे 100 मिलीलीटर पानी मिलाके के मिक्स कर ले. अब उसे एक चम्मच गाय के दूध से पीले. यह प्रयोग करने के दो घंटे पहले या दो घंटे बाद कुछ नहीं खाएं. यह प्रयोग करने से तेजस्वी पुत्र की प्राप्ति होगी.

रुद्राक्ष का पानी पीने के फायदे | रुद्राक्ष की माला पहनने के नियम, फायदे और कीमत 

पुत्र प्राप्ति के लिए नारियल का बीज कब खाना चाहिए

अगर आप भी चाहते है पुत्र प्राप्ति तो सोमवार के दिन यह उपाय करे. सबसे पहले नारियल या नारियल का बिज लेना हैं. सोमवार के दिन सुबह उठकर स्नान आदि करने के बाद ओम “नम: शिवाय मंत्र” का एक माला जाप करे. अब भगवान शिव से सच्चे मन से प्रार्थना करे.

अब नारियल या नारियल के बिज को शिवलिंग पास चढ़ाए. तथा उन्हें घी का दीपक जलाए और “ओम नम: शिवाय” मंत्र का सच्चे मन से पाठ करे. इसके बाद शाम के समय नारियल या नारियल के बिज को गंगाजल भरे पात्र में डाल दे.

ॐ काली कंकाली महाकाली मंत्र की महिमा जाने

अब ऐसे ही छोड़ दे अगले दिन मंगलवार को हनुमान जी का ध्यान करते हुए निहार मुहं गाय के दूध के साथ नारियल बिज खा ले. लेकिन आपको ध्यान रखना है की नारियल बिज आपको सीधा निगलना हैं उसे चबाना नहीं हैं. यह उपाय आप सोमवार के दिन ही कर सकते है.

putra-prapti-ke-lie-kaunsa-vrat-krna-chahie-tejasvi (3)

शिव पुराण के अनुसार पुत्र प्राप्ति के उपाय

शिव पुराण में लिखे अनुसार नीचे दिए गए उपाय करने से पुत्र प्राप्ति होती हैं.

पहला उपाय

कदली के पेड़ के नीचे बालमुकुंद भगवान की पूजा करे. तथा उन्हें गुड और चने का भोग लगाए. यह उपाय 21 गुरुवार तक करने से संतान प्राप्ति होती हैं.

दूसरा उपाय

11 प्रदोष का व्रत करना चाहिए. प्रत्येक प्रदोष को भगवान शिव का रुद्राभिषेक करे. इस उपाय से संतान प्राप्ति होती हैं.

तीसरा उपाय

गरीब बालक-बालिकाओं को गोद ले उनके पढाई कराए तथा पुस्तक, खाने पीने का खर्चा यह सभी खर्चा दो वर्ष तक उठाए. इससे संतान प्राप्ति होती हैं.

दुकान खोलते समय कौन सा मंत्र बोलना चाहिए | व्यापार बंधन खोलने के उपाय

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल (पुत्र प्राप्ति के लिए कौन सा व्रत करना चाहिए | तेजस्वी पुत्र प्राप्ति के उपाय) के माध्यम से पुत्र प्राप्ति के लिए सबसे अच्छा व्रत पुत्रदा एकादशी व्रत करना चाहिए इसकी विधि भी बताई हैं. तथा पुत्र प्राप्ति के लिए और भी उपाय इस आर्टिकल में आपको बताए हैं. अगर किसी को पुत्र प्राप्ति की समस्या है पुत्रदा एकादशी व्रत जरुर करे तथा और भी उपाय हमने बताए वह उपाय कर सकते हैं.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

मोर पंख से लड़का होने के उपाय क्या है जाने औषधि तैयार करनी की पूरी विधि

तुलसी में दूध चढ़ाने से क्या होता है | तुलसी का पौधा किस दिन लगाएं

1 thought on “पुत्र प्राप्ति के लिए कौन सा व्रत करना चाहिए | तेजस्वी पुत्र प्राप्ति के उपाय”

Leave a Comment