श्री यंत्र के प्रकार तथा फायदे / श्री यंत्र क्या है | श्री यंत्र की प्राण प्रतिष्ठा कैसे करें

श्री यंत्र के प्रकार तथा फायदे / श्री यंत्र क्या है | श्री यंत्र की प्राण प्रतिष्ठा कैसे करें – धन की देवी माता लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए श्री यंत्र बड़ा ही प्रभावशाली माना जाता हैं. श्री यंत्र माता लक्ष्मी का यंत्र माना गया हैं. श्री यंत्र की पूजा करने से माता लक्ष्मी की विशेष कृपा हमारे पर बनी रहती हैं. तथा धन की प्राप्ति होती हैं. इसलिए लोग अपने घर में श्री यंत्र की स्थापना करके पूजा-अर्चना करते हैं.

Shri-yantr-ke-prakar-fayde-pran-pratishtha-kaise-kre (1)

ऐसा माना जाता है की श्री यंत्र की पूजा करने से माता लक्ष्मी प्रसन्न हो जाती हैं. श्री यंत्र की पूजा करने से धन की कमी तो दूर होती ही हैं. इसके अलावा परिवार में सदैव सुख शांति, ऐश्वर्य तथा सौभाग्य बना रहता हैं.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से श्री यंत्र के प्रकार बताने वाले हैं. तथा श्री यंत्र क्या है और श्री यंत्र के फायदों के बारे में भी चर्चा करेगे. इसके अलावा श्री यंत्र से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

हनुमान बाहुक के लाभ / हनुमान बाहुक का पाठ कैसे करे

श्री यंत्र के प्रकार

श्री यंत्र दो प्रकार के होते हैं. पहला आकृति और रेखाओं वाला श्री यंत्र और दूसरा अंको वाला श्री यंत्र. वैसे तो दोनों यंत्र ही ताकतवर और प्रभावशाली माने जाते है. लेकिन अंको वाले श्री यंत्र की तुलना में आकृति और रेखाओं वाला श्री यंत्र अधिक ताकतवर और प्रभावशाली माना जाता हैं.

गोवल्लभाय स्वाहा मंत्र के फायदे | गोवल्लभाय स्वाहा का अर्थ क्या है | गोवल्लभाय स्वाहा मंत्र का जाप कैसे करें

श्री यंत्र क्या है

श्री यंत्र माता लक्ष्मी का यंत्र माना जाता हैं. श्री यंत्र की घर में पूजा-अर्चना करने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं. और उनके आशीर्वाद से हमे धन की प्राप्ति होती हैं. श्री यंत्र पर कुछ रेखाएं और अंक बने हुए होते हैं.

पृथ्वी पूजन मंत्रपूजन विधिव्रत, सामग्री / पृथ्वी पूजन क्यों जरूरी है

श्री यंत्र पर बनी हुई रेखाएं और अंक में थोड़ी सी गलती हो गई. तो अर्थ का अनर्थ हो सकता हैं. इसलिए यह किसी ज्योतिष को दिखाकर लेना चाहिए. उसके बाद ही घर में स्थापित करना चाहिए.

श्री यंत्र के फायदे

श्री यंत्र अलग-अलग धातु से बनाया हुआ होता हैं. जिसके लाभ भी अलग-अलग होते हैं. श्री यंत्र से होने वाले लाभ हमने नीचे बताए हैं.

  • अगर आप अपने घर में पारद का श्री यंत्र स्थापित करते है. तो लक्ष्मी और सिद्धि की प्राप्ति होती हैं.
  • अगर आप अपने घर में अष्टधातु का श्री यंत्र स्थापित करते है. तो धन और पारिवारिक सुख की प्राप्ति होती हैं.
  • अगर आप अपने घर में स्फटिक का श्री यंत्र स्थापित करते है. तो ज्ञान, समृद्धि और शांति की प्राप्ति होती हैं.
  • अगर स्वर्ण से बना हुआ श्री यंत्र स्थापित करते है. तो व्यवसाय में लाभ होता हैं.
  • अगर आप अपने घर में तांबे का श्री यंत्र स्थापित करके पूजा-अर्चना करते है. तो आर्थिक तंगी दूर होती हैं. तथा धन की प्राप्ति होती हैं.
  • अगर आप किसी को श्री यंत्र दान में देना चाहते है. तो चांदी का श्री यंत्र दान में दे सकते है. इस वजह से आपको इसके विशेष लाभ मिलेगे.

Shri-yantr-ke-prakar-fayde-pran-pratishtha-kaise-kre (2)

तेल का दीपक जलाने के लाभ / दीपक जलाने के नियम

श्री यंत्र की प्राण प्रतिष्ठा कैसे करें

श्री यंत्र की प्राण प्रतिष्ठा करने की संपूर्ण विधि निम्नलिखित है:

  • श्री यंत्र की स्थापना आप किसी भी अच्छे शुभ दिन में कर सकते हैं. लेकिन अगर आप दीवाली, रविपुष्य योग या होली के दिन करते है. तो अतिउत्तम माना जाता हैं.
  • जिस दिन आप श्री यंत्र की प्राण प्रतिष्ठा करने वाले है. उस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद शुद्ध वस्त्र धारण कर ले.
  • अब माता लक्ष्मी का श्रद्धापूर्वक ध्यान करे.
  • अब कच्चे दूध में गंगाजल मिलाकर श्री यंत्र को स्नान करवाए.
  • इसके पश्चात साफ़ वस्त्र से श्री यंत्र को साफ़ करे. और लाल कपडा बिछाकर चौकी पर स्थापित करे.
  • अब अगरबत्ती, धुप, फुल, गुलाल, अबील आदि से श्री यंत्र की पूजा करे.
  • यह सभी प्रक्रिया पूर्ण हो जाने के बाद 1008 बार लक्ष्मी मंत्र का “ऊॅँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ऊॅँ महालक्ष्मै नम:” जाप करे. लक्ष्मी मंत्र जाप करने के लिए आप किसी भी माला का इस्तेमाल कर सकते हैं.

पूजा सफल होने के संकेत क्या होते है

श्री यंत्र किस दिशा में लगाना चाहिए

श्री यंत्र उत्तर दिशा में लगाना शुभ माना जाता हैं.

Shri-yantr-ke-prakar-fayde-pran-pratishtha-kaise-kre (3)

पीपल का पेड़ किस दिन लगाना चाहिए / पीपल का पेड़ लगाने के लाभ

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से श्री यंत्र के प्रकार तथा फायदे बताए हैं. इसके साथ ही यह भी बतया है की श्री यंत्र की प्राण प्रतिष्ठा कैसे करें. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह श्री यंत्र के प्रकार तथा फायदे / श्री यंत्र की प्राण प्रतिष्ठा कैसे करें आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

माथे पर हल्दी का तिलक लगाने के फायदे / नाभि पर हल्दी का तिलक लगाने के फायदे

मूल शांति पूजन सामग्री लिस्ट इन हिंदी | मूल नक्षत्र कौन कौन से हैं | मूल नक्षत्र कैसे जाने

पूजा कब नहीं करनी चाहिए | सुबह कितने बजे उठकर पूजा करनी चाहिए

1 thought on “श्री यंत्र के प्रकार तथा फायदे / श्री यंत्र क्या है | श्री यंत्र की प्राण प्रतिष्ठा कैसे करें”

Leave a Comment