सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र, तरीका, फायदे, समय / सूर्य को अर्घ्य क्यों देते हैं

सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र, तरीका, फायदे, समय / सूर्य को अर्घ्य क्यों देते हैं – भारतीय संस्कृति में देवताओं का पूजा-पाठ करना तथा उन्हें सर्व मानकर उनको महत्व दिया जाता हैं. वैसे तो इन देवताओं की संख्या 33 कोटि है. लेकिन इसमें से दों देवता है. जो पृथ्वी पर हर रोज दिखाई देते हैं. जब इस सृष्टि का प्रारंभ हुआ लोग सूर्य देवता और चंद्रमा को पूजते आ रहे हैं.

भगवान राम भी खुद सूर्य देवता को पूजते थे. और उन्हें जल से अर्घ्य देते थे. आज के समय में भी मनुष्य सूर्य देवता को जल से अर्घ्य देता हैं. जो की काफी अच्छी बात हैं.

Sury-ko-adhrd-dene-ka-mantr-tarika-fayde-samay-kyo-dete-h (1)

लेकिन सूर्य देवता को जल से अर्घ्य देते समय से एक मंत्र का उच्चारण करना होता हैं. जिसके बारे में शायद ही किसी को पता होगा. अगर आप भी इस मंत्र के बारे में जानना चाहते है. तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र बताने वाले हैं. तथा सूर्य को अर्घ्य क्यों देते है, अर्घ्य देने का समय, तरीका और फायदे के बारे में भी बताने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

नाभि ठीक करने का मंत्र तथा शाबर मंत्र धरन ठीक करने का मंत्र

सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र

सबसे पहले तो हम आपको सूर्य देवता को अर्घ्य देने का मंत्र बताने वाले हैं. इसके बाद अर्घ्य देने का समय, तरीका और फायदे के बारे में भी बताएगे. सूर्य देवता को अर्घ्य देने का मंत्र हमने नीचे दिया हैं.

सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र

ऊँ ऐही सूर्यदेव सहस्त्रांशो तेजो राशि जगत्पते
अनुकम्पय मां भक्त्या गृहणार्ध्य दिवाकर:
ऊँ सूर्याय नम:, ऊँ आदित्याय नम:, ऊँ नमो भास्कराय नम: अर्घ्य समर्पयामि

सूर्य को अर्घ्य क्यों देते हैं

सूर्य देवता को निर्भीक और निडर माना जाता हैं. इसलिए ऐसा माना जाता है. की जो व्यक्ति सूर्य देवता को अर्घ्य देते है. उनमें भी ऐसे गुण आते हैं. तथा उनका सौभाग्य हमेशा के लिए अच्छा बना रहता हैं. सूर्य देवता को अर्घ्य देने से हमारी कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत बनती हैं. तथा शनि का बुरा प्रभाव हम पर नहीं पड़ता. इसलिए सूर्य को अर्घ्य देते हैं.

गरुड़ पुराण कब पढ़ना चाहिए / गरुड़ पुराण के टोटके, नियम, और फायदे

सूर्य को अर्घ्य देने का समय

सूर्य देवता को सूर्योदय होने से लेकर उसके बाद 1 घंटे तक अर्घ्य दिया जा सकता हैं.

सुई से टोटका करने की विधि – समस्याओ से तुरंत हल पाने का तरीका

सूर्य को अर्घ्य देने का तरीका

अर्घ्य देने के लिए तांबे के लौटे में जलभर के उसमें रोली, लाल फुल और अक्षत डालकर अर्घ्य दिया जाता हैं. साथ में हमने जो ऊपर मंत्र बताया उसका जाप भी करना हैं.

ब्रह्माकुमारी के नियम और ज्ञान / brahma kumaris rules in hindi

सूर्य को अर्घ्य देने के फायदे

सूर्य देवता को अर्घ्य देने से मनुष्य को बहुत ही फायदा होता हैं. सूर्य को अर्घ्य देने के फायदे हमने नीचे दिए हैं.

  • अगर आप रोजाना सूर्य देवता को मंत्र उच्चारण के साथ अर्घ्य देते है. तो आपकी नौकरी में तरक्की होती हैं.
  • अगर सूर्य देवता को नियमित रूप से अर्घ्य दिया जाए. तो आपकी आंख और हड्डियों से संबंधित परेशानियां काफी हद तक कम हो जाती हैं.
  • जो लोग राजनीती में होते है. उन्हें सूर्य देवता को रोजाना अर्घ्य देना चाहिए इससे उनके प्रभाव में बढ़ोतरी होती हैं.
  • सूर्य देवता को अर्घ्य देने से हमारी कुंडली में इस ग्रह से जुड़े सभी दोष धीरे-धीरे समाप्त हो जाते हैं.
  • सूर्य देवता को अर्घ्य देने से हमारे मान-सम्मान में वृद्धि होती हैं. तथा हमारी आत्मा शुद्ध होती हैं. हमे पिता से सुख और सहयोग की भी प्राप्ति होती हैं.
  • अगर हमारी कुंडली में शनि देवता का प्रभाव है. तो सूर्य देवता को अर्घ्य देने से यह दोष धीरे-धीरे कम हो जाता हैं.
  • सूर्य देवता को अर्घ्य देने से हम उनकें जैसे निर्भीक और निडर बन जाते हैं.

Sury-ko-adhrd-dene-ka-mantr-tarika-fayde-samay-kyo-dete-h (3)

पूजा कब नहीं करनी चाहिए | सुबह कितने बजे उठकर पूजा करनी चाहिए

चंद्रमा को अर्घ्य देने का मंत्र

चंद्रमा को अर्घ्य देने का मंत्र हमने नीचे दिया हैं.

चंद्रमा को अर्घ्य देने का मंत्र

क्षीरोदार्णवसम्भूत अत्रिगोत्रसमुद् भव
गृहाणार्ध्यं शशांकेदं रोहिण्य सहितो मम

Sury-ko-adhrd-dene-ka-mantr-tarika-fayde-samay-kyo-dete-h (2)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र बताया हैं. इसके अलावा हमने सूर्य देवता को अर्घ्य देने के फायदे, समय तथा तरीके भी बताए है. साथ में चंद्रमा को अर्घ्य देने का मंत्र भी बताया हैं. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आप के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र, तरीका, फायदे, समय / सूर्य को अर्घ्य क्यों देते हैं आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

जादू टोना का पता लगाना चाहते है तो जाने यह तरीके / व्यक्ति पर जादू टोना होने के संकेत 

घर के मंदिर में माचिस क्यों नहीं रखनी चाहिए | पूजा घर में कितनी फोटो रखनी चाहिए

अकाल मृत्यु के बाद आत्मा कहां जाती है / अकाल मृत्यु से बचने के लिए मंत्र और उपाय

2 thoughts on “सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र, तरीका, फायदे, समय / सूर्य को अर्घ्य क्यों देते हैं”

Leave a Comment