तीव्र बुद्धि मंत्र – ज्ञान पाने का मंत्र / मानसिक शक्ति बढ़ाने के उपाय

तीव्र बुद्धि मंत्र – ज्ञान पाने का मंत्र / मानसिक शक्ति बढ़ाने के उपाय – आज के समय में कोई भी कार्य करने में जल्दी से निर्णय लेना पड़ता हैं. अगर हम जल्दी से निर्णय नहीं ले पाते हैं. और काम के बारे में ही सोचते रहते हैं. तो मान लीजिए की आपकी बुद्धि में तीव्रता की कमी हैं. ऐसे में हमारा काम किसी अन्य व्यक्ति को मिल जाता हैं. और हमे नुकसान हो जाता हैं.

Tivr-budhdi-mantr-gyan-pane (2)

जैसे की कोई बिजनेसमेन व्यक्ति है. और उसे किसी भी प्रकार का कांट्रेक्ट दिया जाता हैं. तो उसे जल्दी से निर्णय लेना होगा की वह यह काम कर पाएगा या नहीं. अगर आप सोचते रहते है और निर्णय नहीं ले पाते हैं. तो तीव्र बुद्धि की कमी के कारण वह काम अन्य किसी को मिल जाता हैं. ऐसा हर एक क्षेत्र में होता हैं. फिर वह चाहे नौकरी हो या फिर कोई अन्य काम.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से कुछ ऐसे तीव्र बुद्धि मंत्र तथा ज्ञान पाने का मंत्र बताने वाले हैं. जो आपके लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं. तो यह सभी जानकारी पाने के लिए हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

तीव्र बुद्धि मंत्र

हमने नीचे कुछ तीव्र बुद्धि मंत्र बताए है.

तीव्र बुद्धि मंत्र-1

ॐ वागदैव्यै च विद्महे कामराजाय धीमहि। तन्नो देवी प्रचोदयात्‌

तीव्र बुद्धि मंत्र-2

ॐ ह्रीं ऐं ह्रीं सरस्वत्यै नमः, शारदा शारदाभौम्वदना। वदनाम्बुजे, सर्वदा सर्वदास्माकमं सन्निधिमं सन्निधिमं क्रिया तू, वर्णानामर्थसंघानां रसानां छन्दसामपि, मंगलानां च कर्त्तारौ वन्दे वाणी विनायकौ

तीव्र बुद्धि की प्राप्ति के लिए यह दोनों ही मंत्र बहुत ही कारगर और प्रभावशाली माने जाते हैं. यह दोनों ही मंत्र माता सरस्वती के मंत्र हैं. माता सरस्वती को ज्ञान और बुद्धि की देवी माना जाता हैं. अगर आप इस मंत्र का जाप करते हैं. तो आपकी तीव्र बुद्धि में वृद्धि होती हैं.

इस मंत्र का जाप आपको रोजाना सुबह के समय स्नान आदि करने के बाद दस मिनिट तक करना हैं. इससे माता सरस्वती के आशीर्वाद की प्राप्ति होगी तथा आपकी तीव्र बुद्धि में बढ़ोतरी होगी.

इसके अलावा इस मंत्र जाप से और एक लाभ भी होता हैं. ऐसा माना जाता है की माता सरस्वती के इस मंत्र जाप से माता लक्ष्मी भी प्रसन्न होती हैं. इसलिए अगर आप इस मंत्र का रोजाना दस मिनिट जाप करते हैं. तो माता सरस्वती के साथ माता लक्ष्मी भी प्रसन्न होती हैं. इस कारण आपको तीव्र बुद्धि के साथ-साथ धन की भी प्राप्ति होगी.

प्रेम विवाह के लिए शिव पूजा – प्रेम विवाह के लिए मंत्र 

ज्ञान पाने का मंत्र

ॐ ऐं वाग्देव्यै च विद्महे कामराजाय धीमहि

यह माता सरस्वती का ज्ञान पाने का मंत्र माना जाता हैं. ऐसा माना जाता है की इस मंत्र जाप से जातक के ज्ञान में वृद्धि होती हैं. इस मंत्र जाप से आपको ज्ञान की प्राप्ति होती हैं. तथा सभी क्षेत्र में सफलता की प्राप्ति होती हैं.

Tivr-budhdi-mantr-gyan-pane (3)

राहु मंत्र जाप के लाभ, जाप विधि / राहु मंत्र क्या है 

मानसिक शक्ति बढ़ाने के उपाय

मानसिक शक्ति बढाने के कुछ घरेलू उपाय हमने नीचे बताए हैं.

  • नियमित रूप से कॉफ़ी का सेवन करने से आपकी मानसिक शक्ति में वृद्धि हो सकती हैं.
  • रोजाना चोकलेट का सेवन करने से मानसिक शक्ति में वृद्धि हो सकती हैं.
  • सप्ताह में दो से तीन बार ब्रोकोली का सेवन करने से आपकी मानसिक शक्ति में वृद्धि हो सकती हैं.
  • हप्ते में दो से तीन दिन अखरोट का सेवन करने से आपकी मानसिक शक्ति में वृद्धि हो सकती हैं.
  • पालक भी आपकी मानसिक शक्ति बढ़ाने में मदद कर सकता हैं. इसलिए पालक का सेवन करने से भी व्यक्ति की मानसिक शक्ति में वृद्धि होती हैं.
  • बेटा मछली में ओमेगा 3 पाया जाता हैं. जो हमारे दिमाग के लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं. अगर आप बेटा मछली का सेवन करते हैं. तो आपकी मानसिक शक्ति में बढ़ोतरी हो सकती हैं.

Tivr-budhdi-mantr-gyan-pane (1)

राशि अनुसार हनुमान मंत्र जाने – सारे दुखो को मिटाने का रास्ता

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से तीव्र बुद्धि मंत्र तथा ज्ञान पाने का मंत्र बताए हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह तीव्र बुद्धि मंत्र – ज्ञान पाने का मंत्र / मानसिक शक्ति बढ़ाने के उपाय आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

पानी बढ़ने का मंत्र / जमीन में पानी होने के संकेत – पानी देखने की जड़ी बूटी

महामृत्युंजय मंत्र का जाप कब करना चाहिए / महामृत्युंजय मंत्र की विशेषता

भगवान शिव को प्रकट करने का मंत्र क्या है – सम्पूर्ण जानकारी