श्री स्वामी समर्थ मंत्र जप लाभ | श्री स्वामी समर्थ विचार

श्री स्वामी समर्थ मंत्र जप लाभ | श्री स्वामी समर्थ विचार – अगर हम रोजाना नियमति रूप से मंत्र का जाप करते हैं. तो हमे काफी प्रकार के लाभ मिलते हैं. मंत्र जाप करने से हमारे शरीर में एक नई ऊर्जा का संचार होता हैं. व्यक्ति को स्वास्थ्य लाभ मिलता है. तथा व्यक्ति मानसिक विकारों से दूर हो जाता हैं.

मंत्र जाप से हमारे मन और मस्तिष्क को शांति मिलती हैं. यह सभी हमारे मंत्र की शक्ति हैं. लेकिन आज हम श्री स्वामी समर्थ के मंत्र जाप के लाभ बताने वाले हैं. इसलिए हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

Shri-swami-samrth-mantr-jap-labh-vichar-kaun-the (2)

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से श्री स्वामी समर्थ मंत्र जप लाभ तथा श्री स्वामी समर्थ विचार के बारे में बताने वाले हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

श्री स्वामी समर्थ मंत्र जप लाभ                            

श्री स्वामी समर्थ मंत्र के कुछ लाभ हमने नीचे बताए हैं.

  • श्री स्वामी समर्थ के मंत्रों का जप करने से मनुष्य का स्वास्थ्य अच्छा बना रहता हैं. मनुष्य को काफी सारी बीमारियों से छुटकारा मिलता हैं.
  • इनके मंत्र जप से मनुष्य को मानसिक शांति मिलती हैं. तथा मनुष्य का दिमाग ठंडा और शांत रहता हैं.
  • जिन लोगो को अधिक गुस्सा आता है. उन लोगो को श्री स्वामी समर्थ के मंत्र का जाप नियमति रूप से करना चाहिए.
  • श्री स्वामी समर्थ के मंत्र का जप करने से व्यक्ति को जीवन में सफलता मिलती हैं.
  • इस मंत्र जाप से घर के बच्चो की पढाई में सुधार आता हैं.
  • इस मंत्र जाप से मनुष्य की जीवनशैली में परिवर्तन आता हैं. मनुष्य का जीवन सुखमय बनता हैं.
  • इस मंत्र जाप से हम अन्य लोगो से मिलने वाली निराशा तथा धोखे से बच सकते हैं.
  • इस मंत्र जाप से सभी संकटों से मुक्ति मिलती हैं. तथा जीवन की सभी परेशानी दूर होती हैं.
  • श्री स्वामी समर्थ के मंत्र बहुत ही प्रभावशाली माने जाते हैं. अगर मनुष्य अपने जीवन को सुखमय बनाना चाहता हैं. तो नियमति रूप से श्री स्वामी समर्थ मंत्र जप करे.

Shri-swami-samrth-mantr-jap-labh-vichar-kaun-the (1)

भृगु संहिता के उपाय, मंत्र – भृगु संहिता की जानकारी

श्री स्वामी समर्थ विचार  / श्री स्वामी समर्थ सुविचार / स्वामी समर्थ कौन थे

श्री स्वामी समर्थ के कुछ विचार हमने नीचे बताए हैं. श्री स्वामी समर्थ महाराष्ट्र के अक्कलकोट संप्रदाय के महान संत थे. श्री स्वामी समर्थ 19वीं शताब्दी के महान संत माने जाते हैं. इनके कुछ विचार हमने नीचे बताए हैं.

  • अगर आपका भाग्य आपका साथ नहीं देता है. तो आपको मरना नहीं चाहिए. बल्कि अपने दम पर जीवन जीना चाहिए.
  • हमे हमारे जीवन के जो कर्तव्य है. वह पूर्ण करने चाहिए. उनको महत्व देना चाहिए. हमे जीवन में किसी भी संकट से डरना नहीं चाहिए. बल्कि संकट का सामना करना चाहिए.
  • इंसान को जीवन की बीती हुई यादों को सोचकर रोना नहीं चाहिए. बल्कि भविष्य के बारे में सोचकर जीवन जीना चाहिए.
  • अगर आपको जीवन में ठोकर लगे तो हिम्मत नहीं हारनी चाहिए. हिम्मत से उसी रास्ते पर आगे चलना चाहिए.
  • जिस प्रकार हीरे से आभूषण का मूल्य बढ़ता हैं. उसी प्रकार अच्छे कर्म से व्यक्ति का मूल्य बढ़ता हैं.
  • इंसान को अपने परेशानी भरे जीवन में भी खुशियां ढूंढनी चाहिए. भाग्य का चक्र हर जगह घूमता है. और आपके पापकर्म की गणना होती हैं.
  • उन लोगो पर ध्यान नहीं देना चाहिए. जिन्होंने आपके बुरे समय में आपका साथ नहीं दिया. बल्कि उन लोगो पर ध्यान देना चाहिए. जिन्होंने आपके बुरे समय में आपका साथ दिया. और आपको अच्छे समय में लेकर आए.
  • उस व्यक्ति की हमेशा सराहना करनी चाहिए. जो कभी भी वापस नहीं आता है. या फिर जो व्यक्ति आपके जीवन में आता है.
  • इंसान को अपना लक्ष्य खुद तय करना चाहिए. फिर भले ही उस रास्ते पर कितनी भी मुश्किलें आए स्वामी ध्यान हमेशा आप पर हैं.
  • जीवन की राह एक दुर्गम, कठिन पर्वत घाट हैं.
  • कोई भी लक्ष्य पाना कितना भी मुश्किल क्यों न हो. लेकिन मन में जज्बा है. तो कुछ भी संभव हैं.

hri-swami-samrth-mantr-jap-labh-vichar-kaun-the (3)

शादी विवाह के श्लोक / शादी के सात वचन हिंदी में 

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से श्री स्वामी समर्थ मंत्र जप लाभ तथा श्री स्वामी समर्थ विचार बताए हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की हैं. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह श्री स्वामी समर्थ मंत्र जप लाभ | श्री स्वामी समर्थ विचार आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

गर्भ गीता के फायदे / गर्भ संस्कार मंत्र – गर्भ गीता में कितने अध्याय हैं

हरिवंश पुराण पाठ के फायदे | हरिवंश पुराण इन प्रेगनेंसी

कन्या के विवाह के लिए किस मंत्र का जाप करें – सम्पूर्ण जानकारी 

3 thoughts on “श्री स्वामी समर्थ मंत्र जप लाभ | श्री स्वामी समर्थ विचार”

Leave a Comment