पूजा घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए – सम्पूर्ण जानकारी

पूजा घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिएसम्पूर्ण जानकारी – वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर आपके घर की सभी वस्तु सही जगह पर हैं. तो आपके जीवन की कई सारी समस्याएं ऐसे ही खत्म हो जाती हैं. कई बार हम देखते है की हम हमारे भगवान तथा इष्टदेव की पूजा रोजाना करते हैं. उनको रोजाना याद करते हैं. फिर भी हमारे जीवन की परेशानियां बढती जाती हैं.

Puja-ghar-ka-darwaja-kis-disha-me-hona-chahie (3)

वास्तु शास्त्र के अनुसार इसके पीछे का कारण आपका पूजा घर माना जाता हैं. अगर पूजा घर का दरवाजा सही दिशा में नही होगा. तो आप चाहे कितने ही पूजा-पाठ कर लो. उसका लाभ नहीं मिलेगा. पूजा-पाठ का सही लाभ प्राप्त करने के लिए और सुख की प्राप्ति के लिए पूजा घर का दरवाजा सही दिशा में होना जरूरी होती हैं.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की पूजा घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं. तो यह सभी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

पूजा घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का पूजा घर उत्तर दिशा में होना शुभ माना जाता हैं. इस दिशा को इशान कोण उत्तर-पूर्व दिशा में भी कहा जाता हैं. इसलिए अगर आप घर का पूजा घर उत्तर दिशा में रखते हैं. तो यह अतिउत्तम माना जाता हैं. कुछ वास्तु एक्सपर्ट का मानना है की पूजा घर का दरवाजा उत्तर-पूर्व दिशा में होना अच्छा माना जाता हैं.

वास्तु शास्त्र के अनुसार आपके घर के पूजा घर का दरवाजा कभी भी पश्चिम दिशा की तरफ नहीं होना चाहिए. इस दिशा में पूजा घर का दरवाजा अशुभ माना जाता हैं. इसके अलावा आपके घर में मुख्य द्वार के सामने भी पूजा घर का दरवाजा नहीं होना चाहिए. यह भी वास्तु के हिसाब से अशुभ माना जाता हैं.

शनिवार को पीपल में जल कब चढ़ाना चाहिए / शनिवार को पीपल में जल देने की विधि

भगवान का मुख किस दिशा में होना चाहिए     

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के मंदिर में भगवान का मुख उत्तर-पूर्व दिशा में होना शुभ माना जाता हैं. इस दिशा में भगवान का मुख रखना अच्छा माना जाता है.

कुबेर भगवान का मुख किस दिशा में होना चाहिए

कुबेर को धन का देवता माना जाता हैं. कई बार काफी मेहनत करने के बाद भी धन की प्राप्ति नहीं होती हैं. तो मान लीजिए आपके घर में कुबेर भगवान का मुख गलत दिशा में हैं. भगवान कुबेर के लिए उत्तर दिशा सबसे अच्छी मानी जाती हैं. अगर आप अपार धन प्राप्त करना चाहते है. कुबेर भगवान का मुख उत्तर दिशा में रखे.

शनिवार को सोना खरीदना चाहिए या नहीं / सोना कौन से वार को खरीदना चाहिए

लक्ष्मी जी का मुख किस दिशा में होना चाहिए

वास्तु शास्त्र के अनुसार लक्ष्मी जी की कृपा पाने के लिए घर में उनका मुख उत्तर दिशा की तरफ रखे. इस दिशा में माता लक्ष्मी का मुख रखने से अपार धन की प्राप्ति होती हैं. तथा माता लक्ष्मी के आशीर्वाद हमारे पर हमेशा के लिए बने रहते हैं.

Puja-ghar-ka-darwaja-kis-disha-me-hona-chahie (2)

गणेश जी का मुख किस दिशा में होना चाहिए

गणेश जी की कृपा पाने के लिए भी उत्तर दिशा ही सही मानी जाती हैं. इस दिशा में गणेश जी का मुख रखने से आपको सुख की प्राप्ति होती हैं. तथा आपके जीवन की सभी बाधा खत्म हो जाती हैं.

शाम को शिवलिंग पर जल चढ़ाना चाहिए या नहीं / शिवलिंग को घर में रखना चाहिए या नहीं

हनुमान जी का मुख किस दिशा में होना चाहिए

हनुमान जी के लिए दक्षिण दिशा शुभ मानी जाती हैं. ऐसा माना जाता है की हनुमान जी ने अपने अधिक से अधिक कार्य इसी दिशा में किए थे. इसलिए आपको हनुमान जी की प्रतिमा ऐसे रखनी चाहिए. जिससे उनका मुख दक्षिण दिशा में रहे. हनुमान जी का दक्षिण दिशा में मुख रखना शुभ माना जाता है.

Puja-ghar-ka-darwaja-kis-disha-me-hona-chahie (1)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है पूजा घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह पूजा घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

शिवलिंग पर कितने बेलपत्र चढ़ाने चाहिए | बेलपत्र चढ़ाने का सही तरीकाविधिमंत्र

नर्मदेश्वर शिवलिंग की पहचान नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा कैसे करें

तुलसी के पास कौन सी पांच चीजें नहीं रखनी चाहिए | तुलसी का पौधा छत पर लगा सकते हैं 

1 thought on “पूजा घर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए – सम्पूर्ण जानकारी”

Leave a Comment